डीरेका में तैयार किया गया पहला एलवीसीआर युक्त इंजन

VARANASI वाराणसी।  डीजल रेल इंजन कारखाना की ओर से रेल इंजनों में लोको कैब वीडियो और वॉइस रिकॉर्डिंग सिस्टम (एलसीवीआर) लगाया जायेगा। पहला एलवीसीआर डीरेका की ओर से डुएल कैब डब्ल्यूडीजी4डी रेल इंजन संख्या 70787 में लगाया गया। यह इंजन सोमवार को उत्तर रेलवे के लुधियाना डीजल शेड के लिए भेजा गया।

डीरेका को रेलवे बोर्ड से रेल इंजनों में लोको कैब वीडियो एवं वॉइस रिकॉर्डिंग सिस्टम (एलसीवीआर) लगाने का निर्देश प्राप्त हुआ है। इसके तहत वीडियो कैमरा, माइक्रोफोन और डिजिटल विडियो रिकॉर्डिंग युक्त एलसीवीआर इंजनों में लगाये जाने हैं। वीडियो कैमरे से रात में रिकॉर्डिंग हो सकेगी। इंजनों में कुल छह कैमरे लगेंगे।

दोनों चालक कक्षों में में दो-दो कैमरे तथा रेल इंजन के दोनों किनारों पर एक-एक कैमरा होगा। एलसीवीआर लोको कैब से प्रभावी और टैंपरप्रुफ वीडियो तथा आवाज रिकार्डिंग होगी। इससे दुर्घटनाओं की जांच में सहायता मिलेगी। लोको पायलट की गलतियों और कमजोरियों को परखने और सुधार के लिए यह सहायक होगा। डीरेका को एलसीवीआर के 25 लोको सेट की आपूर्ति करनी है।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail