दिल्ली मेट्रो: एक ही तल पर होगा नए व पुराने मेट्रो का प्लेटफार्म

New Delhi (NDLS) नई दिल्ली:  तीसरे चरण के तहत तैयार होने वाले मेट्रो के स्टैंडर्ड गेज तथा मौजूदा ब्रॉडगेज लाइन पर बने मेट्रो स्टेशन का प्लेटफार्म यात्रियों की सुविधा के लिए एक ही लेवल पर बनाए जाएंगे। तीसरे चरण में चालू होने वाला मंडी हाउस मेट्रो स्टेशन पहला ऐसा इंटरचेंजिंग स्टेशन होगा, जिसके नए व पुराने प्लेटफार्म एक लेवल (तल) में होंगे। मौजूदा लाइन ब्रॉडगेज है तो वहीं नए लाइन स्टैंडर्ड गेज के होने के बावजूद दोनों लाइनों को साथ-साथ रखा गया है ताकि लाइन बदलकर सफर करने वालों को सहूलियत हो।

जमीन से तकरीबन 11 मीटर नीचे तैयार होने वाले मंडी हाउस इंटरचेंजिंग स्टेशन के चालू होने से लोगों को जितनी राहत मिलेगी, उससे कहीं अधिक सुकून दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) को होगा। क्योंकि इससे राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर भीड़ कम होगी।

यहां से 70 हजार यात्रियों की आवाजाही

केंद्रीय सचिवालय से कश्मीरी गेट को जोड़ने वाली यह नई लाइन 9.37 किलोमीटर है। मंडी हाउस इंटरचेंजिंग स्टेशन के चालू होने के बाद डीएमआरसी का अनुमान है कि यहां से यात्रियों की आवाजाही अपेक्षाकृत सात गुना बढ़ जाएगी। अभी मंडी हाउस के मौजूदा मेट्रो स्टेशन पर दिनभर में तकरीबन 10 हजार लोगों की आवाजाही होती है।

कट एंड कवर तकनीक से तैयार

मेट्रो प्रवक्ता अनुज दयाल के अनुसार, मंडी हाउस स्थित नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के पास इंटरचेजिंग स्टेशन का प्रवेश द्वार होगा। इस मेट्रो स्टेशन को भी मेट्रो टनल की तरह ‘कट एंड कवर’ जमीन की खुदाई के साथ-साथ उसे कंक्रीट से बने स्लैब के जरिए ढककर आकार प्रदान करने की तकनीक से तैयार किया गया है। जल्द ही तैयार प्लेटफार्म को टनल वाले हिस्से से मिलाया जाएगा।

जल्द तैयार होगा आइटीओ स्टेशन

तीसरे चरण में जनपथ, मंडी हाउस के बाद आइटीओ तीसरा मेट्रो स्टेशन है जो अब तैयार होने वाला है। सिविल कार्य पूरा हो गया है। अगले कुछ महीनों में इसे अंतिम रूप दे दिया जाएगा। केंद्रीय सचिवालय से वाया मंडी हाउस कश्मीरी गेट तक जाने वाली लाइन का निर्माण कार्य सितंबर, 2014 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail