नए साल में गोरखपुर से गोंडा तक दौड़ेगी ट्रेन

Gorakhpur (GKP) गोरखपुर : रेल यात्रियों के लिए राहत भरी खबर है। अब उन्हें गोरखपुर से आनंदनगर-बढ़नी-बलरामपुर होते हुए गोंडा तक की यात्रा करने में कोई परेशानी नहीं होगी। नए साल में गोरखपुर से गोंडा तक गाड़ियां दौड़ने लगेंगी। नए वित्तीय वर्ष में बढ़नी से बलरामपुर होते हुए गोंडा तक का आमान परिवर्तन कार्य पूरा हो जाएगा। इसके लिए पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने अभी से अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं।

गोरखपुर से आनंदनगर होते हुए बढ़नी तक का आमान परिवर्तन साल की शुरुआत में ही पूरा हो गया। इसके बाद इस रूट पर सवारी गाड़ियां चलने लगी। यात्रियों की परेशानी और उनकी मांग को देखते हुए पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने 25 नवंबर से 3 डेमू ट्रेन का भी संचलन शुरू कर दिया है। इससे यात्रियों को राहत मिली है। पड़ोसी देश नेपाल के सीमावर्ती क्षेत्र के विकास का मार्ग भी प्रशस्त हो गया है। हालांकि, अभी भी बढ़नी से बलरामपुर होते हुए गोंडा तक छोटी लाइन पर ही गाड़ियां दौड़ रही हैं। ऐसे में इस क्षेत्र के लोगों के लिए दिल्ली और मुंबई अभी भी बहुत दूर लग रही है। गाड़ियां बदलने और अधिक समय लगने के चलते गोरखपुर और लखनऊ पहुंचने में ही यात्रियों के पसीने छूट जाते हैं। लेकिन, अब ऐसा नहीं होगा। दिल्ली और मुंबई की दूरी भी कम हो जाएगी। यात्रा आसान हो जाएगी। पूर्वोत्तर रेलवे ने नए साल में इस क्षेत्र के लोगों के लिए नया तोहफा देने मन बना लिया है। इसके लिए बढ़नी से गोंडा तक का आमान परिवर्तन कार्य शुरू हो गया है। विभागीय सूत्रों के अनुसार इधर कार्य में तेजी भी आ गई है। आमान परिवर्तन का कार्य दो चरण में होना है। पहले चरण में बढ़नी से बलरामपुर तक लगभग 70 किमी और दूसरे चरण में बलरामपुर से गोंडा तक करीब 35 किमी, यानी कुल करीब 105 किमी नई रेल लाइन बिछायी जानी है। रास्ते में पढ़ने वाले छोटे और बड़े पुलों का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। फिलहाल, पहले चरण में बढ़नी से बलरामपुर के बीच फरवरी तक निर्माण कार्य पूरे कर लिए जाने हैं। 1 मार्च से छोटी लाइन ठप हो जाएगी। दूसरे चरण में बलरामपुर से गोंडा के बीच अप्रैल तक सारे निर्माण कार्य पूरे कर लिए जाएंगे। 1 मई से छोटी लाइन ठप हो जाएगी। इसके लिए रेल प्रशासन ने अपनी पूरी प्लानिंग तैयार कर ली है। इस दौरान लोगों को परेशानी उठानी पड़ेगी। उन्हें सड़क मार्ग से ही यात्रा करनी होगी। पर, कार्य पूरा होते ही दोनों सेक्शन एक साथ खोल दिए जाएंगे। इसके बाद इस रूट पर भी एक्सप्रेस और मेल गाड़ियां दौड़ने लगेंगी। यानी, गोरखपुर से आनंदनगर, बढ़नी, बलरामपुर होते हुए गोंडा तक का सफर आसान हो जाएगा।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail