पश्चिम रेलवे की क्षेत्रीय राजभाषा कार्यान्वयन समिति की बैठक में राजभाषा प्रगति की समीक्षा

फोटो कैप्शन: पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री ए. के. गुप्ता क्षेत्रीय राजभाषा कार्यान्वयन समिति की बैठक को सम्बोधित करते हुए। इस अवसर पर अपर महाप्रबंधक श्री राहुल जैन, मुख्य राजभाषा अधिकारी श्री एम. के. गुप्ता तथा उप महाप्रबंधक (राजभाषा) डॉ. सुशील कुमार शर्मा भी दिखाई दे रहे हैं।

मुंबई – पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री ए. के. गुप्ता की अध्यक्षता में सोमवार, 20 अगस्त, 2018 को चर्चगेट स्थित पश्चिम रेल मुख्यालय में क्षेत्रीय राजभाषा कार्यान्वयन समिति की 148 वीं बैठक में सम्पन्न हुई। पश्चिम रेलवे में राजभाषा का प्रचार-प्रसार तथा प्रयोग बढ़ाने के लिए प्रधान कार्यालय के राजभाषा विभाग द्वारा प्रकाशित वेब-पत्रिका ‘ई-राजहंस’ के 34 वें अंक का महाप्रबंधक द्वारा विमोचन किया गया।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री रविंद्र भाकर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार राजभाषा बैठक में पश्चिम रेलवे के मुख्य राजभाषा अधिकारी एवं मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (निर्माण) श्री एम. के. गुप्ता ने समिति के सभी सदस्यों का स्वागत करते हुए कहा कि हिंदी का सरकारी कार्यालयों में प्रयोग बढ़ाना एक राष्ट्रीय कार्य है, क्योंकि भारत की एकता और अखंडता को बनाये रखने में हिंदी की विशेष भूमिका है। पश्चिम रेलवे में राजभाषा को लागू करने के बारे में वार्षिक कार्यक्रम में जो लक्ष्य निर्धारित किये गये हैं, उनकी पूर्ति के लिए उचित कारगर कदम उठाये जायें। पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी स्वयं अधिकाधिक टिप्पणियाँ हिंदी में लिखकर अपने अधिकारियों एवं कर्मचारियों को हिंदी में कार्य करने के लिए उनके प्रेरणास्रोत बन सकते हैं। प्रधान कार्यालय में राजभाषा का प्रचार-प्रसार एवं प्रयोग बढ़ाने के लिए 12 सितम्बर से 27 सितम्बर, 2018 तक राजभाषा पखवाड़ा आयोजित किया जायेगा। बैठक में सभी मंडल कार्यालयों एवं कारखाना कार्यालयों के प्रतिनिधियों से अनुरोध किया गया कि राजभाषा का प्रचार-प्रसार एवं प्रयोग बढ़ाने के उद्देश्य से सभी अपने-अपने कार्यालयों में सुविधानुसार राजभाषा पखवाड़े, राजभाषा सप्ताह एवं हिंदी दिवस का आयोजन अवश्य करें। इस बैठक में गृह मंत्रालय के उप निदेशक डॉ. विश्वनाथ झा, पश्चिम रेलवे के प्रमुख विभागाध्यक्ष, विभिन्न मंडलों के अपर मंडल रेल प्रबंधक और मुख्य कारखाना प्रबंधक उपस्थित थे।

बैठक के दौरान महाप्रबंधक ने पश्चिम रेलवे पर राजभाषा हिंदी में हो रहे कार्य की प्रशंसा की और क्षेत्रीय स्तर पर आयोजित हिंदी प्रतियोगिताओं में सफल 18 कर्मचारियों को नकद पुरस्कार राशि और प्रशस्ति-पत्र प्रदान करके सम्मानित किया। उन्होंने सभी सदस्यों को सितम्बर, 2018 में प्रमुख कार्यालयों एवं रेलवे स्टेशनों पर राजभाषा प्रदर्शनियाँ लगाने का आग्रह किया। बैठक में पश्चिम रेलवे के प्रधान कार्यालय के सभी विभागों, सभी 6 मंडलों और 6 कारखानों में अप्रैल से जून, 2018 के दौरान राजभाषा कार्यान्वयन में हुई उल्लेखनीय प्रगति को समिति के सदस्य सचिव डॉ. सुशील कुमार शर्मा द्वारा प्रस्तुत किया गया और राजभाषा कार्यान्वयन में हुई प्रगति की समीक्षा की गई। इसके पश्चात मंडलों/यूनिटों/प्रधान कार्यालय के अधिकारियों ने अपने-अपने कार्यालयों में हिंदी में हो रहे कार्यों की संक्षेप में जानकारी दी। इस बैठक में अपर महाप्रबंधक श्री राहुल जैन, प्रमुख मुख्य कार्मिक अधिकारी श्री संजय सूरी, प्रमुख वित्त सलाहकार श्रीमती उमा रानडे, प्रमुख मुख्य सिगनल एवं दूरसंचार इंजीनियर श्री दीपक बंसल, मुख्य संरक्षा अधिकारी श्री मनोज शर्मा, वरिष्ठ उप महाप्रबंधक श्री सुनील कुमार गर्ग, प्रमुख मुख्य सुरक्षा आयुक्त श्री अजय कुमार सिंह, मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री रविंद्र भाकर, मुंबई सेंट्रल मंडल के अपर मंडल रेल प्रबंधक श्री कुशाल सिंह सहित अन्य विभाग प्रमुख उपस्थित थे। बैठक का संचालन सदस्य सचिव एवं उप महाप्रबंधक (राजभाषा) डॉ. सुशील कुमार शर्मा तथा धन्यवाद ज्ञापन वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी अशोक कुमार लोंढे ने किया।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail