पश्चिम रेलवे के मुंबई मंडल द्वारा टिकट चैकिंग में उच्चतम राजस्व प्राप्ति का नया कीर्तिमान

मुंबई। पश्चिम रेलवे के मुंबई मंडल ने अप्रैल, 2018 में बिना टिकट/अनियमित टिकट पर यात्रा करने वालों से उच्चतम राजस्व प्राप्ति का एक नया कीर्तिमान बनाया है।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री रविंद्र भाकर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार पश्चिम रेलवे के मुंबई मंडल की अप्रैल, 2018 के दौरान, टिकट जांच आमदनी न केवल पिछले वर्ष के मुकाबले अधिक है, बल्कि इसने निर्धारित लक्ष्य को भी पार कर लिया है। अप्रैल 2018 में 1.35 लाख प्रकरणों एवं 6.08 करोड़ रु. आय का लक्ष्य तय था, जबकि इस माह के दौरान प्रकरणों में निर्धारित लक्ष्य से 5.25 प्रतिशत तथा जुर्माने की राशि की प्राप्ति में निर्धारित लक्ष्य से 15.34 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है।

यह उल्लेखनीय है कि अप्रैल 2018 में टिकट जांच के प्रकरणों की संख्या एवं टिकट जांच आय अब तक का सर्वश्रेष्ठ निष्पादन रहा है। अप्रैल 2018 में बिना टिकट यात्रा के पिछले वर्ष के दौरान दर्ज 40,694 मामलों की अपेक्षा इस वर्ष 41642 मामले पकड़े गये। इस प्रकार इनमें 2.33 प्रतिशत की वृद्धि हुई। पिछले वर्ष के दौरान 1.35 लाख मामलों के मुकाबले इस वर्ष बिना टिकट एवं अनियमित यात्रा इत्यादि के कुल 1.43 लाख मामले दर्ज किये गये। इस प्रकार इनमें 5.53 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई। अप्रैल 2018 में बिना टिकट यात्रा/अनियमित यात्रा तथा बिना बुक किये गये सामान के मामलों से प्राप्त राजस्व पिछले वित्तीय वर्ष की इसी अवधि में प्राप्त 6.12 करोड रु. की अपेक्षा इस वर्ष 7.02 करोड़ रु. रहा। इस प्रकार इसमें 14.71 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।

पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री ए के गुप्ता तथा प्रमुख मुख्य वाणिज्य प्रबंधक श्री राज कुमार लाल ने मुंबई मंडल द्वारा हासिल किये गये इस उत्कृष्ट निष्पादन की सराहना करते हुए मंडल रेल प्रबंधक श्री संजय मिश्रा, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्रीमती आरती सिंह परिहार तथा उनके वाणिज्य विभाग की पूरी टीम को इस रिकॉर्ड के लिए बधाई दी है ।

उल्लेखनीय है पश्चिम रेलवे द्वारा बिना टिकट यात्रा करने वालों के विरुद्ध नियमित रूप से ऐसे सघन अभियान चलाकर कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जाती रही है। अपने अधिकृत रेल उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधाएँ उपलब्ध कराने तथा बिना टिकट यात्रा में कमी लाने के उद्देश्य से पश्चिम रेलवे द्वारा हमेशा कारगर कदम उठाये जाते रहे हैं। पश्चिम रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा बिना टिकट यात्रा के कारण होने वाली राजस्व क्षति तथा इस तरह की अन्य अनियमितताओं पर कड़ी निगरानी रखी जाती है। पश्चिम रेलवे द्वारा यात्रियों से अपील की गई है कि वे उचित टिकट खरीदकर सम्मान के साथ यात्रा करें।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail