पश्चिम रेलवे के रेल सुरक्षा बल द्वारा सामारोहिक परेड के साथ मनाया गया 34 वाँ स्थापना दिवस

पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री ए. के. गुप्ता रेल सुरक्षा बल के 34 वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित मार्चपास्ट की सलामी लेते हुए तथा उल्लेखनीय सेवाओं के लिए पुरस्कार प्रदान करते हुए। तीसरे चित्र में इस मौके पर आयोजित डॉग शो का दृश्य दिखाई दे रहा है।

मुंबई – पश्चिम रेलवे के रेल सुरक्षा बल द्वारा मुंबई के महालक्ष्मी स्थित वेस्टर्न रेलवे स्पोर्ट्स ग्राउंड में 21 सितम्बर, 2018 को आयोजित सामारोहिक परेड के साथ 34 वाँ स्थापना दिवस मनाया गया। इस अवसर पर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री ए. के. गुप्ता ने रेल सुरक्षा बल की 6 पलटनों द्वारा प्रदर्शित परेड का निरीक्षण किया एवं एवं मार्चपास्ट की सलामी ली। श्री गुप्ता ने उल्लेखनीय सेवाओं के लिए रेल सुरक्षा बल के विभिन्न अधिकारियों और जवानों को पुरस्कार प्रदान किये।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री रविंद्र भाकर द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार इस मौके पर बोलते हुए महाप्रबंधक श्री गुप्ता ने रेल सुरक्षा बल की विभिन्न उपलब्धियों की सराहना की तथा आरपीएफ कर्मियों से अपील की कि वे यात्रियों एवं रेल सम्पत्ति से सम्बंधित अपराधों के खिलाफ होने वाले अपराधों की रोकथाम के लिए अधिक सतर्क रहें। अपने सम्बोधन में श्री गुप्ता ने बताया कि सम्पूर्ण पश्चिम रेलवे पर वर्तमान में रेल सुरक्षा बल की 89 चौकियाँ और 49 चैक पोस्ट कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष रेल सुरक्षा बल द्वारा पश्चिम रेलवे पर 66 महिलाओं, 187 नाबालिग लड़कियों और 562 अनाथ बच्चों को पुनः उनके परिवारों/स्वयंसेवी संगठनों को सौंपने में बहुत महत्त्वपूर्ण भूमिका अदा की गई। साथ ही फटका गैंग के 96 सदस्यों को पकड़ा गया और रेल यात्रियों के 407 चुराये गये सामानों को लौटाया गया।

इनके अलावा मानव तस्करी के 5 मामले और चोरी के 50 मामलों में आरोपियों को पकड़ा गया तथा 1.58 करोड़ रु. मूल्य की कीमती वस्तुएँ बरामद की गईं, जिन्हें उनके मूल मालिकों को लौटाया गया। सामारोहिक परेड के पश्चात रेल सुरक्षा बल के प्रशिक्षित श्वान दस्ते द्वारा आकर्षक डॉग शो और विभिन्न कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये गये। इस अवसर पर पश्चिम रेलवे के प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त श्री ए. के. सिंह और अन्य वरिष्ठ रेल अधिकारी भी मौजूद थे। समारोह के अंत में महाप्रबंधक श्री गुप्ता ने उपस्थित मीडिया प्रतिनिधियों के साथ विभिन्न महत्त्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा भी की।

Western Railway’s Railway Protection Force celebrated its 34th Raising Day on 21st September 2018, with a Parade at WR Sports Ground at Mahalaxmi, Mumbai. Shri A K Gupta – General Manager, Western Railway received the guard of honour, by inspecting the Parade of 6 platoons of RPF. Shri Gupta presented various awards to the awardees in recognition to their meritorious service.

According to a press release issued by Shri Ravinder Bhakar – Chief Public Relations Officer of Western Railway, addressing on the occasion of the raising day, GM Shri Gupta urged the Railway Protection Force personnel to be more vigilant to eliminate crimes against passenger and railway properties and applauded the various achievements of RPF. Shri Gupta in his message informed that there are 89 posts & 49 checkposts of RPF over W. Rly. He apprised that in the last year, RPF force was instrumental in rescuing 66 ladies, 187 minor girls & 562 orphan children and handed them over to their families / NGOs.

Also, 96 Phatka gang members were caught, 407 stolen luggage of passengers were returned, five human trafficking cases and 50 theft cases including valuable items costing Rs.1.58 crores were returned. The parade was followed by a dog show performed by the RPF Dog Squad and other cultural programmes. Shri A K Singh, CSC and other senior officers were present at this occasion. The programme was winded up after a brief media interaction by GM.

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail