पश्चिम रेलवे पर विश्व की पहली महिला स्पेशल लोकल ट्रेन की 26 वीं वर्षगाँठ हर्षोल्लास के साथ मनाई गई

कैप्शनः उपरोक्त तस्वीरें शनिवार, 5 मई 2018 को पश्चिम रेलवे के उपनगरीय खंड पर विश्व की पहली लेडीज स्पेशल उपनगरीय ट्रेन के 26 गौरवशाली वर्ष पूर्ण करने के अवसर पर स्पेशल सेलिब्रेशन मूड को दर्शा रही हैं। पहले चित्र में लेडीज स्पेशल उपनगरीय ट्रेन का सुसज्जित रेक, दूसरे तथा तीसरे चित्र में महिला रेल यात्रियों को गुलाब के फूल प्रदान करती एवं फीड-बैक फार्म वितरित करती महिला टिकट चैकर, जबकि चौथे चित्र में मुंबई मंडल की वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्रीमती आरती सिंह परिहार महिला रेल यात्रियों से संवाद करती नज़र आ रही हैं। अंतिम चित्र में पश्चिम रेलवे के स्पेशल टिकट चैकिंग दस्ते की सभी सदस्याएँ पश्चिम रेलवे के मुंबई मंडल के मंडल रेल प्रबंधक श्री संजय मिश्रा तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ दिखाई दे रही हैं। Various pics indicating special celebration mood on the occasion of completion of 26 glorious years of World’s 1st Ladies special train on W.Rly’s Suburban section on Saturday, 5th May, 2018. The 1st pic is of decorated rake of ladies special train. In the 2nd and 3rd pics, ladies TCs are seen greeting lady commuters with roses & distributing feedback forms , while in the 4th photograph,  Mrs. Aarti Singh Parihar – Sr. Divisional Commercial Manager of Mumbai division interacting with a lady commuter. In the last photograph the members of WR’s ladies TC squad are seen with Shri Sanjay Mishra – Divisional Rly Manager & other senior officers of Mumbai division of W.Rly.

मुंबई। शनिवार, 5 मई 2018 को भारत की आर्थिक राजधानी और सपनों के महानगर ‘मुंबई’ में पश्चिम रेलवे के उपनगरीय खंड पर सफर करने वाली महिला रेल यात्रियों के लिए एक बहुत खास दिन था क्योंकि इस दिन 5 मई, 1992 को शुरू की गई विश्व की पहली लेडीज स्पेशल उपनगरीय ट्रेन ने 26 गौरवपूर्ण वर्ष पूर्ण कर एक शानदार पड़ाव हासिल किया। सभी महिला रेल यात्रियों का यह विशेष दिन पश्चिम रेलवे के विभिन्न क्रिया-कलापों, ट्रेन की आकर्षक सजावट, महिला रेल यात्रियों को गुलाब के फूलों के  वितरण तथा विशेष लीफलेट और फीड-बैक फार्म के वितरण के साथ वरिष्ठ महिला रेल अधिकारियों द्वारा महिला यात्रियों से संवाद के माध्यम से और अधिक खास बनाया गया। बड़ी संख्या में लेडीज स्पेशल ट्रेन में नियमित रूप से सफर करने वाली महिला रेल यात्रियों ने अपनी खुशी जाहिर की तथा प्रशंसा के साथ फीडबैक एवं स्पेशल ट्रेन को और बेहतर बनाने के लिए सुझाव देकर इस यादगार उत्सव में भाग लिया।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री रविंद्र भाकर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार  पश्चिम रेलवे द्वारा एक पूरी ट्रेन महिला रेल यात्रियों को समर्पित करने का यह माइलस्टोन इतिहास के गौरवशाली पन्नों में दर्ज हो चुका है, तथा यह अन्य क्षेत्रीय रेलों के लिये एक पथ प्रदर्शक भी है। यह एक सुखद संयोग है कि वर्ष 2018-19 को माननीय रेलवे एवं कोयला मंत्री श्री पीयुष गोयल द्वारा ‘भारतीय रेलवे पर महिला और बच्चों की सुरक्षा के वर्ष’ के रूप में मनाने की घोषणा की गई है और इसी वर्ष के दौरान विश्व की पहली लेडीज स्पेशल ट्रेन ने अपनी यात्रा के 26 अहम वर्षों का सफर पूर्ण किया है।

इस अवसर पर सभी महिला यात्रियों को लेडीज टिकट चैकरों द्वारा गुलाब के फूल भेट किये गये तथा उन्हें महत्त्वपूर्ण सुझावों के लिए लीफलेट और फीडबैक फॉर्म भी वितरित किये गये। इन लीफलेटों में पश्चिम रेलवे द्वारा उपनगरीय खंड पर महिला रेल यात्रियों के लिए किये गये विशेष प्रयासों और उन्हें बेहतर सुरक्षा प्रदान करने के लिए हेल्पलाइन नम्बरों तथा उपलब्ध सेवाओं की महत्त्वपूर्ण जानकारियां दी गई थीं, जबकि फीडबैक फॉर्म के जरिये महिला रेल यात्रियों के महत्त्वपूर्ण सुझावों को मांगा गया। सभी महिला रेल यात्रियों ने पश्चिम रेलवे द्वारा किये गये इन प्रयासों पर खुशी जाहिर की और फीडबैक के प्रयासों में बढ़-चढ़ कर भाग लिया।

5 मई, 2018 की सुबह 7.35 बजे की विरार से चर्चगेट जाने वाली लेडीज स्पेशल ट्रेन को रंगबिरंगे फूलों तथा 26 गौरवपूर्ण  सालों के  सफर से सम्बंधित बैनर से सजाया गया। रिटायर्ड स्कूल टीचर श्रीमती संध्या सावंत ने अपने अनुभवों को साझा करते हुए बताया कि वर्तमान में लेडीज स्पेशल ट्रेन ज्यादा साफ-सुथरी रहती है। उन्होंने यह भी बताया कि इस ट्रेन में सफर कर हम ज्यादा सुरक्षित महसूस करते हैं। आई.टी. प्रोफेशनल श्रीमती दीपा कौर ने बताया कि इस ट्रेन के  अच्छे रखरखाव से वह बहुत खुश है तथा ज्यादातर ट्रेनें सही समय पर चलती हैं। एक अन्य महिला रेल यात्री सुश्री डेंझी ने पश्चिम रेलवे को लेडीज स्पेशल ट्रेन के 26 वर्ष पूरे करने पर बधाई दी तथा इस तरह की सेवाओं को परिचालित करने के प्रयासों की सराहना की।

इस अवसर पर मुंबई मंडल की वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक श्रीमती आरती सिंह परिहार तथा वरिष्ठ परिचालन प्रबंधक श्रीमती सुहानी मिश्रा ने महिला रेल यात्रियों के साथ संवाद स्थापित किया तथा उनसे यात्रा के दौरान उनके अनुभवों तथा आने वाली दिक्कतों के साथ-साथ सेवाओं को  बेहतर बनाने के लिए महत्त्वपूर्ण सुझावों को देने का आग्रह किया। इस संवाद के दौरान कुछ ऐसी समर्पित महिला यात्रियों से मुलाकात हुई, जो लगातार 26 वर्षों से सफर कर रही है और उन्होंने अपने ग्रुप भी बना रखे हैं। यद्यपि उनके बीच खून का रिश्ता नही है, परंतु वे सभी पारिवारिक सदस्यों की तरह आपस में मिल-जुलकर सफर करती हैं। पश्चिम रेलवे की चिकित्सा अधिकारियों डॉ. मीना अय्यर, डॉ. मीना कुमारी, डॉ. उपासना तथा सहायक कार्मिक अधिकारी श्रीमती मंगला ने भी महिला रेल यात्रियों से बातचीत कर उनका प्रतिसाद जाना।

5 मई, 2018 को संयोगवश पहली लेडीज स्पेशल के साथ मुंबई सेंट्रल मंडल के सभी महिला टिकट चैकिंग स्टाफ वाले पहले स्पेशल टिकट चैकिंग दस्ते ने भी अपनी शुरूआत के 26 वर्ष पूरे किये। इस विशेष टिकट चैकिंग दस्ते के सभी सदस्यों ने इस विशेष अवसर को खुशी एवं उत्साह के साथ मनाया। मुंबई सेंट्रल मंडल के मंडल रेल प्रबंधक श्री संजय मिश्रा तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने इस लेडीज टिकट चैकिंग दस्ते के सभी सदस्याओं के साथ-साथ महिला रेल यात्रियों से भी मुलाकात की तथा इस यादगार आयोजन के लिए सभी को बधाई दी।

श्री भाकर ने बताया कि महिला रेल यात्रियों की सुरक्षा एवं संरक्षा सुनिश्चित करने के लिये पश्चिम रेलवे द्वारा विभिन्न अभिनव कदम उठाये गये हैं। पश्चिम रेलवे द्वारा कई लेडीज डिब्बों में सीसीटीव्ही कैमेरे लगाये गये हैं। पिछले साल अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर सुरक्षा सुनिश्चित करने के प्रयासों के तहत पश्चिम रेलवे द्वारा टॉक बैक प्रणाली शुरू की गई, इस प्रणाली के अंतर्गत आपात स्थिति में यूनिट का बटन दबाकर किसी भी लेडीज डिब्बे में सफर करने वाली महिला रेल यात्री तथा गार्ड के बीच द्विपक्षीय संवाद स्थापित होता है। महिला रेल यात्रियों के  लिएध विशेषकर सुरक्षा या चिकित्सीय मुद्दों पर किसी भी आपात स्थिति में यह प्रणाली बहुत लाभदायक है। अखिल भारतीय सुरक्षा हेल्पलाइन नंबर 182 के पूरक के रूप में चर्चगेट एवं विरार के बीच मुंबई उपनगरीय खंड पर महिला रेल यात्रियों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिये भरोसेमंद और रियल टाइम कम्युनिकेशन वाले आई वॉच रेलवेज़ एप की शुरूआत की गई। पश्चिम रेलवे मुंबई क्षेत्र के महिला रेल यात्रियों के अभूतपूर्व जज्बे को सलाम करती है। यह लेडीज स्पेशल ट्रेन नारी शक्ति के  प्रति अपने समर्पण को हमेशा दर्शाती रहेगी।

26TH ANNIVERSSARY OF WORLD’S 1ST LADIES SPEIAL LOCAL TRAIN ON W.RLY CELEBRATED WITH SPECIAL GESTURS OF GREETINGS AND CHEERS, BY LADIES COMMUTERS

Saturday, 5th May, 2018 was a very special day for all the ladies commuters travelling on Western Railway’s suburban section of the Mumbai, which is the financial capital of India and the mega city of dreams, as the world’s 1st ladies special suburban train proudly completed 26 glorious year of its inauguration on 5th May. 1992. This very special day was further made more special for all the women commuters by Western Railway through various special gestures including decoration of the train,  offering of greetings with roses and distribution of special leaflets & feedback forms along with interaction by senior ladies officers of Western Rly. A big number of regular ladies commuters of ladies special train took part in the memorable celebration by expressing their joy and providing feedback with appreciation and suggestions for further betterment of this special train.

 According to a press release issued by Shri Ravinder Bhakar- Chief Public Relations Officer of Western Railway, this milestone by W. Rly of dedicating an entire train to women commuters has gone down in the annals of history and has achieved the privilege of being the torchbearer for other Railways. It is a pleasant coincidence that this year 2018-19 has been declared to be observed as ‘The Year of Security of Women & Children on Indian Railways’ by Shri Piyush Goyal – Hon’ble Minister of Railways & Coal and during this specific year, the 1st Ladies Special train of world has  completed 26 glorious years of its commencement.

On this occasion all ladies commuters were specially greeted with roses by ladies ticket checkers and the leaflets & feedback forms were also distributed among ladies commuters to get their valuable suggestions. In these leaflets, the important information about various initiatives & helpline numbers to ensure best possible security and services to women commuters on WR’s suburban section has been provided, while through the feedback forms, valuable response of ladies commuters was solicited. All the ladies commuters  expressed their joy for these special gestures by Western Railway and actively participated in the feedback initiative.

The early morning service of Ladies Special train from Virar to Churchgate at 7.35 am on 5th May, 2018 was specially decorated with flowers and banners were displayed indicating the successful completion of 26 glorious years of this train. A retired School teacher Smt. Sandhya Sawant shared her experience that now  a days  ladies special trains are much clean. She also stated that now we can travel & feel more secure and safe. An IT professional Mrs. Deepa Kaur stated that she is very happy about over all maintenance of the train and maximum trains are running on time. Another lady commuter Ms. Denzi congratulated Western Railway on completion of 26 years for ladies special train and appreciated the efforts for running such special services.

On this occasion Smt. Aarti Singh Parihar – Sr. Divisional Commercial Manager, Smt. Suhani Mishra – Sr. Divisional Operations Manager & Dr. Roshni Khubchandani – Sr.Rajbhasha Officer of Mumbai Division interacted with ladies commuters and asked them about their experiences and any difficulties while travelling as well as to provide their valuable suggestions for the betterment of services. While communicating, it was found that there are some dedicated ladies commuters who have been travelling in this train since 26 years and they have made their groups and though they are not related by blood, but by travelling together they treats each other like family members. WR’s Medical officers Dr. Meena Aiyar, Dr. Meena Kumari & Dr. Upasna and Asstt Personnel Officer Mrs Mangla also interacted with ladies commuters.

Co-incidentally, alongwith the 1st ladies special train, 1st special ticket checking squad with all ladies Ticket Checkers of Mumbai Central division also completed 26 glorious years of its formation on 5th May, 2018. Therefore, all the members of this special TC suqad also celebrated this special occasion with joy & fervor. Shri Sanjay Mishra – Divisional Railway Manager of Mumbai Central division of W.Rly along with other senior officers specially met all the members of this Ladies TC squad along with ladies commuters on this occasion and congratulated all of them for this momentous occasion.

Shri Bhakar stated that to instill a sense of safety & security amongst the women passengers, W.Rly has come up with various novel initiatives & measures. W. Rly has installed CCTV cameras in many of the ladies coaches. Talk-back System is a new security measure introduced by W. Rly last year, on the occasion of International Women’s Day. In this system, a two way communication is established between a commuter in any of the ladies coach and the guard of the train in the event of any emergency by pressing a button on the unit. This  benefits lady passengers, especially, during any exigencies such as security or medical issues. To complement the use of All India Security Helpline Number 182 and offer more effective, reliable and real time communication, ‘Eye watch Railways’ App was introduced for the safety of women commuters of Mumbai Suburban between Churchgate  & Virar. W.Rly salutes the spirit of the women folk of Mumbai region and the Ladies Special train will always be an enlightening tribute to womanhood.

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail