भारतीय रेल के 56 मंडलों में राजस्व के नजरिए से चौथे नंबर पर है चक्रधरपुर

मालगाड़ी और यात्री ट्रेनों की संख्या बढ़ाने से पहले रेल लाइन का विस्तार किया जाना जरूरी है. इसलिए तीसरी रेल लाइन पर काम जोर-शोर से चल रहा है. पिछले वर्ष 4300 किलोमीटर ट्रैक नवीनीकरण का कार्य पूरा किया गया. इस वर्ष 5000 किलोमीटर का लक्ष्य रखा गया है.

चक्रधरपुर – रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी ने कहा कि चक्रधरपुर रेल मंडलभारतीय रेलवे के लिए महत्वपूर्ण डिविजन है. इसे देखना जानना भविष्य के नीति निर्धारण के लिए जरूरी है. उन्होंने कहा कि चक्रधरपुर रेल मंडल भारतीय रेल के 56 मंडलों में राजस्व के नजरिए से चौथे नंबर पर है. माल ढुलाई की बात करें तो भारतीय रेल का दस फीसदी माल चक्रधरपुर रेल मंडल ढुलाई करता है. चेयरमैन ने पश्चिम सिंहभूम के चक्रधरपुर रेल मंडल के डीआरएम कार्यालय में रविवार की शाम ये जानकारियां एक प्रेस कांफ्रेंस में दी.

चेयरमैन ने कहा कि हम अमूमन बड़े शहरों के स्टेशन पर जाते हैं. पर, सुदूरवर्ती इलाकों में नहीं जा पाते. लेकिन सुदूरवर्ती इलाकों में अच्छा काम हो रहा है. उन्होंने उदाहरण के तौर पर कहा कि चक्रधरपुर रेल मंडल में काफी बेहतर काम हो रहा है. चेयरमैन ने कहा कि चक्रधरपुर रेल मंडल में माल ढुलाई का काम आने वाले समय में और बढ़ेगा. इसके मद्देनजर रेलवे की तैयारी चल रही है.

उन्होंने कहा कि रैक से लेकर ट्रैक की संख्या विस्तार पर तेजी से काम चल रहा है. उन्होंने कहा कि मालगाड़ी और यात्री ट्रेनों की संख्या बढ़ाने से पहले रेल लाइन का विस्तार किया जाना जरूरी है. इसलिए तीसरी रेल लाइन पर काम जोर-शोर से चल रहा है. पिछले वर्ष 4300 किलोमीटर ट्रैक नवीनीकरण का कार्य पूरा किया गया. इस वर्ष 5000 किलोमीटर का लक्ष्य रखा गया है. वहीं एक हजार किलोमीटर नई लाइन बिछाने का लक्ष्य है. इसी तरह रेलवे की 2000 किलोमीटर लाइन दोहरीकरण करने की योजना है.

चेयरमैन के अनुसार देश की पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन अगले वर्ष जनवरी 2019 से चलाने की योजना है. इसी वर्ष नवंबर दिसंबर तक पहली आइसीएल रैक तैयार होने की उम्मीद है. इसके बाद पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन का प्रायोगिक परिचालन शुरू कर दिया जाएगा. इसके पश्चात इसकी संख्या बढ़ाई जाएगी. उन्होंने कहा कि ट्रेनों में कैमरा लगाने की भी प्रक्रिया जारी है. बहुत जल्द ही कुछ ट्रेनों में पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर कैमरे लगाए जाएंगे. सुरक्षित यात्रा के लिए यह एक महत्वपूर्ण कदम माना जा रहा है जिसपर रेलवे का काम चल रहा है.

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail