मेमू ट्रेन का पेन्टाग्राफ टूटने से मुम्बई-सूरत रेल यातायात बाधित

सूरत। वलसाड रेलवे स्टेशन के नजदीक उदवाड़ा और पारड़ी के बीच शुक्रवार सुबह विरार-भरुच मेमू ट्रेन का पेन्टाग्राफ ओवरहेड इलेक्ट्रिक (ओएचइ) वायर में फंसने से टूट गया। डाउन लाइन पर बीचों-बीच ट्रेन के खड़े हो जाने से पीछे चल रही सभी ट्रेनों को रोकना पड़ा। इस कारण शताब्दी एक्सप्रेस समेत कई ट्रेनें सूरत देरी से पहुंची।

विरार-भरुच शटल मेमू ट्रेन उदवाड़ा और पारड़ी के बीच से गुजर रही थी। सुबह पौने सात बजे मेमू ट्रेन में बीच के हिस्से में लगा एक पेन्टाग्राफ ओएचइ से घर्षण के बाद टूट गया। इसमें ओएचइ को कोई नुकसान नहीं हुआ, लेकिन मेमू ट्रेन के बीच रास्ते में खड़े हो जाने से डाउन लाइन बाधित हो गई। हादसे के बाद दोनों लाइन से रेल यातायात बंद कर दिया गया।

हालांकि बाद में अप लाइन दुरुस्त होने पर उसे ट्रेनों कीआवाजाही के लिए खोल दिया गया। मुम्बई-अहमदाबाद शताब्दी एक्सप्रेस, मुम्बई-अहमदाबाद गुजरात एक्सप्रेस तथा बान्द्रा टर्मिनस-कानपुर एक्सप्रेस को सिंगल अपलाइन से चलाया गया। सूचना मिलने पर वलसाड स्टेशन से तकनीकी विभाग के कर्मचारी घटनास्थल पहुंचे और खामी को दूर किया। करीब ९.५५ बजे डाउन लाइन को शुरू किया गया।

इसके बाद विरार-भरुच मेमू ट्रेन को वलसाड तक लाया गया और उसे वहीं टर्मिनेट कर दिया गया। इस ट्रेन के यात्रियों को दूसरी ट्रेन में वलसाड से भरुच तक भेजने की व्यवस्था की गई।

एक दर्जन से अधिक ट्रेनों पर असर

मुम्बई से अहमदाबाद जाने वाली शताब्दी एक्सप्रेस करीब एक घंटा चालीस मिनट तक अन्य स्टेशन पर खड़ी रही। वहीं जम्मूतवी एक्सप्रेस डेढ़ घंटा, गुजरात एक्सप्रेस दो घंटा, काकीनाड़ा-भावनगर एक्सप्रेस २ घंटे पन्द्रह मिनट, बांद्रा टर्मिनस-कानपुर एक्सप्रेस तीन घंटे बीस मिनट, बांद्रा टर्मिनस-गांधीधाम एक्सप्रेस तीन घंटे बीस मिनट, बांद्रा टर्मिनस-सूरत इंटरसिटी पचास मिनट, डबल डेकर एसी ट्रेन बीस मिनट, अवंतिका एक्सप्रेस डेढ़ घंटे, सूर्यनगरी एक्सप्रेस एक घंटे बीस मिनट, कर्णावती एक्सप्रेस पचास मिनट देरी से सूरत पहुंची। इसके अलावा कुछ अन्य ट्रेनें भी पन्द्रह मिनट से तीस मिनट तक देरी से सूरत पहुंची।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail