राजकोट मंडल के RPF स्टाफ की सतर्कता से यात्री का द्वारका स्टेशन पर छूटा हुआ बहुमूल्य सामान व नकदी सही सलामत सुपुर्द किया गया

राजकोट – हाल ही में दिनांक 10.09.18 को रेलवे सुरक्षा बल (RPF) द्वारका के उप-निरीक्षक केशव देव पाण्डेय व कांस्टेबल नरेन्द्र मीणा को को गाडी संख्या 16337 ओखा-अर्नाकुलम एक्सप्रेस निकलने के बाद 01 काला रंग का बैग स्टेशन पर प्लेटफार्म नं.01 से लावारिस हालत  प्राप्त हुआ.  RPF स्टाफ द्वारा इस सम्बन्ध में स्टेशन पर पूछताछ की गयी लेकिन कोई जानकारी प्राप्त नहीं मिली.  बाद में उपरोक्त RPF स्टाफ ने इस थैले को द्वारका के RPF कार्यालय में रखा तथा इसकी जानकारी स्टेशन पर सभी कर्मचारियों को दी गयी.

बैग के अन्दर पूजा की सामग्री होने के कारण मंदीर में भी जानकारी दी गयी तथा अन्य स्थान पर भी सूचित किया गया. इसी क्रम में आज दिनांक 13.09.18 को 02 व्यक्ति जो की मंदिर के पुजारी है नाम वत्सल पुरोहित पुत्र आश्विन पुरोहित,उम्र-42 वर्ष, धंधा-पुजारी, निवासी-हर्षद शेरी खारवा दरवाजा द्वारका तथा उनके भाई राहुल पुरोहित RPF थाना द्वारका में उपस्थित हुए तथा बताया कि उनके पिताजी दिनांक 10.09.18 को ट्रेन 16337 ओखा अर्नाकुलम एक्सप्रेस में द्वारका से अहमदाबाद जा रहे थे तथा उनका काला रंग का बैग कहीं छुट गया था जिसको उन लोंगो ने ढूंढा लेकिन नहीं मिला.

RPF स्टाफ द्वारा मंदिर में दी गयी जानकारी मिलने पर वे दोनों RPF ऑफिस द्वारका में उपस्थित हुए.  बाद में उप-निरीक्षक केशव देव पाण्डेय द्वारा दोनों भाईयों से सम्बंधित पूछताछ तथा दस्तावेजी परीक्षण पश्चात् सही पाए जाने पर बरामद बैग को सही हालत में सुपुर्द किया गया है बैग में सामान में (1) नगद 21690 रुपये (2) 01 सोने की रुद्राक्ष की माला 20 ग्राम कीमत आसरे 60 हजार (3) 01 सोने की पेंडल कीमत आसरे 10 हजार (4) चांदी के पूजा के पात्र कीमत आसरे 04 हजार (5) पहनने के कपडे, पूजा का सामान, पीताम्बर आदि सामान कुल बरामद सामान की कीमत रुपए 95690/- को सही हालत में सुपुर्द किया गया है.

राजकोट मंडल के मंडल रेल प्रबंधक श्री पी बी निनावे ने RPF स्टाफ द्वारा की गयी इस त्वरित कार्यवाही की सराहना की है।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail