रेलवे अस्पतालों में मरीजों को मुफ्त भोजन बंद

Kharagpur (KGP) खड़गपुर (प.मेदिनीपुर): रेलवे को घाटे से उबारने व अनावश्यक खर्चो में कटौती के लिए रेल प्रशासन की ओर से तमाम उपाय किए जा रहे हैं। इस क्रम में स्वास्थ्य सेवाओं को भी शामिल किया गया है। रेलवे अस्पतालों में अब मरीजों का मुफ्त भोजन रेल प्रशासन की ओर से बंद कर देने का निर्णय लिया गया है।

दक्षिण-पूर्व रेलवे अंतर्गत रेल मुख्यालय गार्डेनरीच अस्पताल व खड़गपुर स्थित रेलवे मुख्य अस्पताल सहित जोन के तमाम अस्पतालों में अब पे स्केल के आधार पर ग्रुप डी रेल कर्मियों व परिजनों का मुफ्त भोजन बंद कर दिया गया है। पहले ग्रुप सी कर्मियों को भी मुफ्त में भोजन दिया जाता था, लेकिन उनके परिजनों को भोजन के लिए भुगतान करना पड़ता था, जबकि ग्रुप डी कर्मियों के अलावा उनके परिजनों को भी भोजन मुफ्त में मिलता था, लेकिन छठे वेतन आयोग में बढ़े वेतन के बाद पे स्केल के आधार पर अब रेल प्रशासन ने ग्रुप डी कर्मियों व परिजनों को मिलने वाले भोजन का शुल्क लेने का निर्णय लिया। रेलवे प्रशासन के इस निर्णय का रेलवे से संबंधित सभी ट्रेड यूनियनों ने विरोध करना शुरू कर दिया है। मेंस कांग्रेस के पूर्व नेता दामोदर राव, खड़गपुर वर्कशॉप के को-ऑर्डिनेटर रंधीष चक्रवर्ती, मेंस यूनियन के अजीत घोषाल व डीपीआरएमएस नेता पीके पात्र का कहना है कि यूनियनों की ओर से इसका विरोध किया जाएगा, वही दपूरे के मुख्य स्वास्थ्य निदेशक डॉ. अरविंद राय का कहना है कि पे स्केल के आधार पर ग्रुप डी कर्मियों को भोजन बंद किया गया है। पे स्केल के आधार पर ही मरीजों सेभोजन का शुल्क लिया जाएगा।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail