ट्रैक पर गिरे रेत से भरे ट्रक ने दिया रेलवे को 50 लाख का नुकसान

Amritsar Jn (ASR) अमृतसर:  महानगर के सबसे अहम भंडारी पुल से शुक्रवार ट्रैक पर गिरे रेत से भरे ट्रक ने रेलवे की आर्थिक स्थिति पटरी से उतार दी है। रेलवे ने भले ही कई घंटों की मेहनत से ट्रक को हटा ट्रैक क्लीयर कर दिया, लेकिन आर्थिक स्थिति को पटरी पर लाने के लिए कितना समय लग सकता है, यह खुद रेलवे अधिकारियों को भी नहीं पता। फिलहाल फिरोजपुर रेलवे डिवीजन के आला अधिकारी स्थानीय अधिकारियों के साथ मिलकर आर्थिक नुकसान के मूल्यांकन में जुटे हुए हैं। फाइनल रिपोर्ट आने में अभी समय लग सकता है। रेत से भरा ट्रक पुल को तोड़ते हुए सबसे पहले बिजली की हाईपावर तारों में उलझा था। बीस टन वजन के इस ट्रक ने कई सौ मीटर रेलवे ट्रैक के ऊपर से गुजरने वाली हाइपावर इलेक्ट्रिक तारों को खंबों समेत उखाड़ फेंका था। इलेक्ट्रिक तारों की मरम्मत में रेलवे का करीब छह लाख रुपये खर्च आया है।

रद्द हुई 24 ट्रेनों के रिफंड ने तोड़ी कमर

इस हादसे से अमृतसर-नई दिल्ली रेलमार्ग पांच घंटों व अमृतसर-पठानकोट रूट पर रेल आवाजाही 12 घंटों के लिए बंद रही। आवाजाही के बंद होने से इन रूटों पर दौड़ने वाली कम दूरी वाली 24 पैसेंजर ट्रेनों को रद्द करना पड़ा था। दूसरी तरफ रद्द हुई ट्रेनों की टिकटों का रिफंड तुरंत जारी करना पड़ा था। इन गाड़ियों में यात्रा करने वाले हजारों यात्रियों को अदा किए रिफंड के रूप में कितना नुकसान हुआ इसका पूरा अंदाजा अभी तक नहीं लग पाया। सूत्रों की मानें तो यह नुकसान करीब 40 लाख से अधिक हो सकता है।

इसलिए नहीं चल सका ट्रक मालिक का पता

रेल व पुलिस विभाग हादसे के जिम्मेदार ट्रक ड्राइवर व मालिक की तलाश में जुट गया है। शुक्रवार को कबड्डी विश्वकप, शनिवार व रविवार को अवकाश के कारण परिवहन विभाग से ट्रक के मालिक की जानकारी सोमवार से पहले नहीं मिल सकती। ट्रैक से हटाया जा चुका ट्रक अभी तक यह ट्रैक के साथ पड़ी खाली जगह में ही पड़ा है। जीआरपी ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ लापरवाही व सरकारी प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने के आरोप में पर्चा दर्ज कर लिया है।

ट्रक ड्राइवर व मालिक दोनों को दिलाएंगे सजा

अमृतसर रेलवे स्टेशन के असिस्टेंट ट्रैफिक मैनेजर अशोक सिंह सलारिया का कहना है कि जीआरपी ट्रक के मालिक व ड्राइवर को आपराधिक मामले में सजा दिलवाएगी। आर्थिक नुकसान के आंकलन के बाद रेलवे इन दोनों से कानूनी तरीके से हर्जाना वसूलेगा।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail