श्रमदान से निर्मित जगदंबा हाल्ट पर शुरू हुआ ट्रेनों का ठहराव

सकरी-बिरौल रेलखंड के नवादा गांव के पास श्रमदान से निर्मित जगदंबा हाल्ट पर रविवार से ट्रेनों का ठहराव शुरू हो गया।

दरभंगा। सकरी-बिरौल रेलखंड के नवादा गांव के पास श्रमदान से निर्मित जगदंबा हाल्ट पर रविवार से ट्रेनों का ठहराव शुरू हो गया। इसके पूर्व ठहराव की मांग को लेकर रविवार को बिरौल जा रही पैसेंजर ट्रेन को जगदंबा हाल्ट निर्माण संघर्ष समिति के सदस्यों ने करीब तीन घंटे तक रोके रखा।

इसके बाद मौके पहुंचे अनुमंडल प्रशासन के अधिकारियों ने हाजीपुर जोनल कार्यालय के रेलवे परिचालन पदाधिकारी एवं सीपीटीएम से मोबाइल पर वार्ता कराई। ठहराव की घोषणा के बाद ट्रेन को आगे बढ़ने दिया गया। बिरौल से दरभंगा लौटते वक्त पैसेंजर ट्रेन जगदंबा हाल्ट पर रुकी। इससे ग्रामीणों में खुशी की लहर दौड़ गई।

समिति के अध्यक्ष एवं सचिव ने विधिवत रूप से फीता काटकर हाल्ट का उद्घाटन किया। उसके बाद ग्रामीणों का जुलूस गाजे बाजे के साथ हाल्ट के नजदीक से पूरे नवादा गांव का भ्रमण किया।

जानकारी के अनुसार, बिरौल से दरभंगा जा रही पैसेंजर ट्रेन को सुबह 9:55 बजे से दोपहर एक बजे दिन तक रोककर लोगों ने बवाल मचाया। ट्रेन रोकने की सूचना मिलने के बाद पहुंचे एसडीओ प्रदीप कुमार झा, डीएसपी उमेश्वर चौधरी, बिरौल के डीएसपी दिलीप कुमार झा, डीसीआइ संजीव रमण, राजीव रंजन के नेतृत्व में बहेड़ा थाना पुलिस और जीआरपी ग्रामीणों को ट्रेन को आगे जाने देने की अपील करती रही। लेकिन ग्रामीण मानने को तैयार नहीं थे। संघर्ष समिति के अध्यक्ष कृष्णानंद झा दादा, सचिव राम कुमार झा बब्लू, मुकुंद झा, काली झा, तारडीह के जिला पार्षद माधव झा आदि कहना था आज जबतक रेलवे के उच्च अधिकारी हाल्ट पर ट्रेन रोकने की घोषणा नहीं करेंगे घोषणा नहीं करेंगे वे लोग ट्रेन को आगे बढ़ने नहीं देंगे।

बाद में आरपीएफ निरीक्षक विनोद विश्वकर्मा ने संघर्ष समिति के सदस्यों को मोबाइल फोन से हाजीपुर जोनल कार्यालय के अधिकारियों से वार्ता कराई, तब ट्रेन गंतव्य की ओर प्रस्थान की। दस वर्षों से समिति और ग्रामीणों की ओर से चल रहा था संघर्ष बताते चलें कि जगदंबा रेलवे हाल्ट संघर्ष समिति के सदस्य पिछले दस वर्षों से नवादा गांव के पास हाल्ट का निर्माण कराने तथा ट्रेन को रोकने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे थे।

File Photo: दरभंगा-बिरौल रेल खंड स्थित नवादा में जगदंबा हॉल्ट निर्माण का काम अपने स्तर से ग्रामीणों ने शुरू कर दिया है. हाल्ट निर्माण संघर्ष समिति के अध्यक्ष कृष्णानंद झा व सचिव सह जिला परिषद सदस्य राम कुमार झा बबलू ने भूमि पूज कर के निर्माण कार्य शुरू कर दिया है

संघर्ष समिति के सदस्यों ने इसके लिए दिल्ली जंतर मंतर सहित हाजीपुर जोनल व समस्तीपुर डीआरएम कार्यालय पर भी धरना प्रदर्शन किया था। सांसद कीर्ति झा आजाद ने भी भारत सरकार के कई रेल मंत्रियों को पत्र देकर नवादा गांव के पास हाल्ट का निर्माण कराकर ट्रेन के ठहराव की मांग की। बावजूद जब बात नहीं बनी तो संघर्ष समिति के सदस्यों ने ग्रामीणों के सहयोग से पिछले वर्ष श्रमदान से ही हाल्ट का निर्माण कार्य कराकर चार सीसीटीवी लगवा दिया। जिला परिषद दरभंगा के सहयोग से हाल्ट तक पहुंचने के लिए पथ का निर्माण कार्य कराया गया। जब रेलवे ने इस हाल्ट पर आज से ही ट्रेन रोकने की घोषणा की तो समिति के सदस्य खुशी से झूम उठे।

क्षेत्र के नवादा गांव में सोमवार को मां जगदंबा रेलवे हाल्ट निर्माण संघर्ष समिति के सदस्यों ने आमसभा की। समिति के अध्यक्ष कृष्णानंद झा दादा ने कहा कि समिति की ओर से गत 2 अक्टूबर को मांगों को लेकर आमरन अनशन एवं रेलवे परिचालन को ठप किया गया था। गत 26 सितंबर को डीआरएम ने संघर्ष समिति के सदस्यों को वार्ता के लिए समस्तीपुर बुलाया। जिसमें 6 प्रस्तावों पर समझौता वार्ता हुई। वार्ता के दौरान यह निर्णय लिया गया कि 2 अक्टूबर को आंदोलन को स्थगित कर नवादा गांव में हाल्ट निर्माण कार्य का प्रस्तावित स्थल पर संघर्ष समिति के सदस्यों के साथ रेलवे के पदाधिकारी की एक संयुक्त आमसभा का आयोजन

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail